हैदराबाद की पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी मर्डर की यह ख़बर लिखते ही हुए किसी भी इंसान के हाथ कांप जाएंगे, पढ़ते समय आपका दिल भी कांपेगा और अगर नहीं कांपता है, तो अपने अंदर की संवेदना को टटोलें. एक 27 साल की लड़की का रेप होता है और अपराधी बचने के लिए उसकी हत्या करके जला देता है, या जलाकर हत्या कर देता है. हैदराबाद की रहने वाली प्रियंका रेड्डी का जला हुआ शव गुरुवार सुबह हैदराबाद के बाहरी इलाक़े में एक ब्रिज के नीचे मिला.

पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी हैदराबाद के शादनगर इलाक़े में रहती थीं और वहां से क़रीब 30 किलो मीटर दूर शम्शाबाद वेटनरी अस्पताल में काम करती थीं. बुधवार को भी प्रियंका, रात के क़रीब नौ बजे अपना काम ख़त्म करके घर की तरफ़ लौट रही थीं, कि उनकी स्कूटी ख़राब हो गई. स्कूटी ख़राब होने की सूचना उन्होंने अपनी बहन को फ़ोन पर दी और यह भी बताया कि जहां वो हैं वहां पर दोनों तरफ़ ट्रक्स हैं और उन्हें डर लग रहा है. बहन ने सलाह दी कि स्कूटी वहीं छोड़कर कैब करके घर चली आओ. दूसरी बार जब बहन ने जब प्रियंका की खोज-ख़बर लेने के लिए 9 बजकर 45 मिनट पर फ़ोन किया, तो नंबर बंद आया. प्रियंका की बहन ने रात में ही गुमशुदगी की रिपोर्ट करवा दी, पर उसे क्या पता था कि प्रियंका अब कभी वापस नहीं आनेवाली हैं. गुरुवार की सुबह परिवार को एक अधजली लाश की शिनाख़्त के लिए बुलाया गया. परिवार ने सोने की पेंडेंट देखकर बेटी को पहचान लिया. इस संगीन ज़ुर्म की जड़ तक पहुंचने के लिए हैदराबाद पुलिस ने कई टीमों का गठन किया है. पुलिस दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी कर रही है.
आख़िर कब तक हम इस तरह की घटनाओं पर दु:ख जताते रहेंगे और कैंडल मार्च करके अपने घरों में फिर से दुबक जाएंगे