एक दिन पहले ही इरफान खान के देहांत के बाद उनके मित्र ऋषि कपूर ने भी ली अंतिम सांस

 “D Day” (2013) का सीन तो आपको याद होगा अगर आप में से किसी ने मूवी देखी है तो एक कार में ऋषि कपूर और इरफान खान साथ बैठे हैं और मुस्कुराते हुए एक दूसरे से बात कर रहे हैं। इसी में अंत में इरफान खान ऋषि कपूर को बचाने के लिए अपने साथी किडनैपर को मार देते हैं। यह एक दृश्य ही नहीं बल्कि दिल को छू लेने वाला वह पल है ज़ब एक दोस्त दूसरे को बचाता है….. इसी मूवी के बाद इरफान खान और ऋषि कपूर में गहरी दोस्ती हो जाती है। उम्र में छोटे होने के बावजूद भी इरफान खान ने जिस तरीके से बॉलीवुड में कम समय में अपनी जगह बनाई थी ऋषि कपूर उसके मुरीद हो गए थे जब उनको इरफान खान के साथ इस मूवी में काम करने का मौका मिला तो जरा भी उन्होंने समय नहीं गंवाया और इरफान खान के साथ यह मूवी कर ली। इसी मूवी के बाद वह एक गहरे दोस्त हो गए और उन्होंने अपनी दोस्ती को कुछ इस तरह से निभाया कि इरफान खान के इस दुनिया से विदा होने के दूसरे दिन उन्होंने भी इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। अगर देखा जाए तो दोनों ही एक्टर अपनी एक्टिंग में सबसे अलग छाप छोड़ते थे।

अत्यंत ही दुखद है कि हिंदी सिने जगत के सबसे बेहतरीन कलाकारों में से एक ऋषि कपूर का निधन 67 साल की उम्र में 30 अप्रैल 2020 को मुंबई के एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल में हुआ। उनका जन्म मुंबई के चेंबूर में 1952 को हुआ था। उनके पिता राज कपूर हिंदी सिने जगत के एक मशहूर कलाकार थे। उनकी पत्नी नीतू कपूर भी एक्ट्रेस रहीं और वर्तमान में उनके बेटे रणबीर कपूर भी अपनी फिल्मी पारी खेल रहे हैं। ऋषि कपूर ने अपने करियर की शुरुआत 1970 में राज कपूर की फिल्म मेरा नाम जोकर से की थी। इस फिल्म में वह एक चाइल्ड आर्टिस्ट का रोल प्ले किया। इस फिल्म के लिए उनको नेशनल फिल्म अवार्ड बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट तौर पर दिया गया। इसके बाद ऋषि कपूर ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक से बढ़कर एक हिट मूवी दीं, जिनमें से बॉबी, चांदनी,  दीवाना,  नागिन,  प्रेम रोग, अमर अकबर एंथोनी सहित दर्जनों फिल्में रहीं। 2017 में अभिनेता परेश रावल के साथ पटेल की पंजाबी शादी, 2018 में अमिताभ बच्चन के साथ 102 नॉट आउट और मुल्क व  2019 में झूठा कहीं का मूवी कर वह हमेशा ही अपने चाहने वालों के बीच बने रहे। 2018 में इनको बोन मैरो कैंसर हुआ जिसका इलाज न्यूयॉर्क में कराया और 1 साल बाद 26 सितंबर 2019 को स्वस्थ होकर भारत अपने घर लौटे लेकिन 29 अप्रैल 2020 को उनकी हालत बिगड़ी जिस पर परिजनों ने उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट किया। उनको सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। 30 अप्रैल को उन्होंने अंतिम सांस ली। अपने पीछे वह अपने दर्शकों के लिए द इंटर्न और राजमा चावल जैसी मनोरंजक फिल्में जो अभी रिलीज नहीं हुई है छोड़ गए हैं।