• आगरा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य व सीएमएस पर गिरी गाज
  • मुख्यमंत्री के निर्देश पर डीजी हेल्थ के यहां से आया फरमान

13 May 2020, Wednesday

आगरा/कानपुर नगर/VMN) आगरा में लगातार बढ़ रहे मामलों  पर मुख्यमंत्री ने अपनी सीधी नजर गड़ा दी है। पल-पल का हाल जानने के लिए आगरा में नोडल अधिकारी बैठा दिए हैं। नोडल अधिकारियों के द्वारा दी गयी सूचना के आधार पर आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में चल रही अव्यवस्थाओं की जानकारी हुई जिसके आधार पर एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य व सीएमएस को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। उनके स्थान पर कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ संजय काला को कार्यवाहक प्राचार्य नियुक्त किया गया है वहीं सीएमएस आगरा जिला चिकित्सालय के डॉ बीपी पुष्कर को बनाया गया है।

 डीजी चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग लखनऊ से जारी हुए आदेश के अनुसार आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ जीके अनेजा तत्काल प्रभाव से हटाते हुए निदेशालय शिक्षा विभाग एवं प्रशिक्षण लखनऊ कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। उनके स्थान पर कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ संजय काला को कार्यवाहक प्राचार्य नियुक्त करते हुए तत्काल कार्यभार ग्रहण करने का आदेश जारी कर दिया गया है।  इसके साथ ही डॉ काला का सहयोग करने के लिए झांसी मेडिकल कॉलेज में ईएनटी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ जितेंद्र सिंह यादव को  एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा भेजा गया है। इसके अतिरिक्त एसएन मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डॉ एससी जैन  को तत्काल प्रभाव से हटाते हुए आगरा के कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। इनके स्थान पर आगरा जिला चिकित्सालय के  डॉक्टर बीपी पुष्कर को सीएमएस बनाया गया है।

ऐसा माना जा रहा है कि अभी हाल में ही मेडिकल कॉलेज में चल रही अनियमितताओं की जानकारी और मुख्यमंत्री द्वारा नियुक्त किए गए नोडल अधिकारियों के रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई अमल में लाई गई है। इसके साथ ही आगरा में कोरोना संक्रमण का ग्राफ  रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आगरा में कोरोना संक्रमण के 785 मामले दर्ज हो चुके हैं।