• गोरखनाथ मंदिर न्यास गोरखपुर व माँ पाटेश्वरी शक्तिपीठ मन्दिर, देवीपाटन, बलरामपुर ने बढ़ाया आगे कदम   
  • मंदिर प्रशासन ने ज़रूरत पड़ने पर सरकार से इन मंदिरों के चिकित्सालय का इस्तेमाल करने की अपील की 

श्री गोरखनाथ मंदिर न्यास गोरखपुर एवं मां पाटेश्वरी शक्तिपीठ मंदिर देवीपाटन, तुलसीपुर, बलरामपुर लॉक डाउन के दौरान जहाँ एक ओर आम श्रद्धालुओं के लिए पूरी तरह बंद कर दिए गए हैं तो दूसरी ओर कोरोना पीड़ितों के लिए पट खुले हुए है। दरअसल भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए श्री गोरखनाथ मंदिर न्यास और मां पाटेश्वरी मंदिर न्यास के ज़िम्मेदारों ने दोनों मंदिरों को हॉस्पिटल का रूप दे दिया है। मंदिर न्यास की ओर से संचालित गुरु गोरखनाथ चिकित्सालय उपलब्ध है तो दूसरी ओर देवीपाटन मन्दिर को भी हॉस्पिटल में तब्दील कर दिया गया है। गोरखनाथ मन्दिर न्यास की ओर से संचालित गुरु गोरखनाथ चिकित्सालय 308 का तथा 10 फीट का आईसीयू पेंटर के साथ उपलब्ध है तो वहीं देवीपाटन मंदिर न्यास के पास 50 बेड का हॉस्पिटल तैयार किया गया है। मंदिर प्रशासन की प्रशासन व सरकार से अपील की है कि इन दोनों चिकित्सालयों का उपयोग जरूरत पड़ने पर किया जा सकता है।

भोजन पैकेट भी दे रहे मन्दिर…

दोनों ही मंदिर प्रशासन मजदूरों और गरीबों के लिए भोजन पैकेट भी उपलब्ध करा रहे हैं। मंदिर प्रशासन का कहना है कि बड़ी संख्या में लोगों के रोजगार छिन गए हैं ऐसे में सरकार तो उनकी मदद कर ही रही है बावजूद इसके जिस किसी को भी भोजन की आवश्यकता हो मंदिर न्यास से प्राप्त कर सकता है।