• कमजोर, अनाथ व मेधावी छात्रों को मिलेगा अवसर 

  • उच्च शिक्षा के लिए छात्र कर सकेंगे आवेदन

  • ग्लोबल पीस यूनिवर्सिटी से हुआ समझौता 

  • डॉ. नीरज टण्डन गोल्डन अवार्ड से सम्मानित 

(गौतम बुद्ध नगर/VMN) पंचशील बालक इंटर कॉलेज के छात्रों को 77 देशों के चयनित शैक्षिक संस्थाओं में उच्च शिक्षा के लिए अवसर मिलेगा। इसके लिए ग्लोबल पीस यूनिवर्सिटी ने सहयोग का हाथ बढ़ाया है। स्कूल के समारोह के दौरान लोगों को इसके बारे में जानकारी दी गई। इस सराहनीय प्रयास से अच्छे रूप से कमजोर, अनाथ व मेधावी  बच्चों को विश्व स्तरीय शिक्षा ग्रहण करने का अवसर प्राप्त होगा। प्रधानाचार्य डॉ. नीरज टण्डन ने बताया कि संस्था की ओर से तय नियमावली के अनुसार बच्चों का चयन कर किया जाएगा। इसमें इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि किस बच्चे की क्या रुचि है और  उसको उससे संबंधित शैक्षणिक संस्थान में भेजा जाएगा। ग्लोबल पीस यूनिवर्सिटी व स्कूल मैनेजमेंट के बीच बच्चों के भविष्य को लेकर यह निर्णय लिया गया। मुख्य अतिथि डॉ. मधु कृष्ण (राजदूत, अमेरिका द्विपक्षीय मिशन और अध्यक्ष, यूनिवर्सल ग्लोबल, यूएसए) ने कहा कि आज के समय में वैश्विक शांति की सबसे बड़ी  जरूरत है। जब तक विश्व में नागरिकों के मस्तिष्क से मानसिक असंतोष दूर नहीं होता तब तक किसी भी देश के वैज्ञानिकों के अविष्कार निरर्थक ही रहेंगे। समारोह के दौरान प्रधानाचार्य डॉ. नीरज टण्डन को युनाइटेड नेशन्स फॉर ग्लोबल पीस की ओर से ह्यूमन एक्सीलेंस ग्लोबल अवॉर्ड फॉर पीस से सम्मानित किया गया। स्कूली बच्चों ने भारत की विभिन्न संस्कृति को दर्शाते  हुए सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। समारोह में शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर योगदान देने के लिए 15 अन्य को भी सम्मानित किया गया।

छात्रों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

प्रधानाचार्य डॉ. नीरज टण्डन ने जानकारी देते हुए बताया कि  इस अनमोल अवसर का लाभ छात्र उठा सकें इसके लिए उनको प्रशिक्षित भी किया जाएगा। इसके लिए स्कूल में बने यूनेस्को क्लब व अत्याधुनिक प्रयोगशाला में छात्रों को विश्वस्तरीय घटनाओं और शिक्षा के बारे में जानकारी दी जाएगी। डॉ. टण्डन ने बताया कि इसके लिए स्कूल काफी समय से तैयारी कर रहा है।