•  21 यात्रियों को इलाज के भर्ती कराया गया
  • छिबरामऊ के नवीगंज क्षेत्र की घटना
  • बस फर्रुखाबाद से जयपुर जा रही थी
  • बस में 45 यात्री होने की संभावना
  • बस का डीजल टैंक भटने से लगी आग
  • एक कार भी चपेट में आयी, घायल भर्ती

(कन्नौज/VMN) फर्रुखाबाद से चल कर जयपुर जा रही निजी ट्रेवल एजेंसी की बस की छिबरामऊ के निकट नवीगंज चौकी क्षेत्र में तेज रफ्तार ट्रक से भिड़ंत हो गयी। इसके साथ ही पीछे से आ रही एक कार भी आग की चपेट में आ गयी। भिड़ंत के बाद बस में आग लग गयी। बस में लगभग 45 यात्री थे जिनमें से लगभग 21 लोगों को बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

छिबरामऊ के पास नवीगंज दुर्घटनाग्रस्त हुई बस धूं-धूं कर जल उठी। मौके पर बचाव के लिये दमकल की गाड़ियां आग बुझाने का प्रयास कर रही हैं। लोगों का हुजूम भी सहायता के लिये एकत्र हो गये हैं। बताया जा रहा है कि आग इतनी भयानक है कि फंसे यात्रियों में से किसी के बच पाने की संभावना काफी कम है।

मौके पर देर से पहुँची दमकल की गाड़ियां को लेकर क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश है। घटना को लेकर मुख्यमंत्री ने स्वयं संज्ञान लिया है। मौके पर डीएम व एसएसपी सहित जिले के आलाधिकारी पहुँचे। एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू शुरू कर आग पर काबू पा लिया है। अंदर सब कुछ जल चुका है। जो यात्री रह गये थे वह कुछ भी समझ में  नहीं आ रहे हैं कि कितने हैं और कौन है।

आईजी कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल का कहना है कि दुर्घटना स्थल के लिये एडीजी कानपुर को मौके पर भेजा गया है। वह स्वयं इस पर नजर रखे हुये हैं। उनका कहना है कि बस में कितने लोग थे और कितने इसका शिकार हुये यह जांच का विषय है। मौके पर सीएमओ अपनी चिकत्सा टीम के साथ मौजूद रह कर बचाव में लगे हैं।

ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि टक्कर के बाद बस का डीजल टैंक फट गया और उसमें आग लग गयी। वहीं यह भी बताया जा रहा है कि एक बिजली के तार भी गुजर रहे थे हो सकता है कि बस में करंट भी दौड़ा हो। जानकारी मिल रही है कि लगभग 27 यात्री गुरसहायगंज व छिबरामऊ से चढ़े थे। शेष यात्री फर्रुखाबाद के होने की संभावना बताई जा रही है। परिवहन मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार अशोक कटारिया का कहना है कि मैं पूरी तरह से घटना पर नजर रखे हुये हूं। इस समय घायल यात्रियों के उपचार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जायेगी। कन्नौज सांसद सुब्रत पाठक मौके के लिये निकल लिये हैं। मैं स्वयं इस पर नजर रख रहा हूँ। कितने यात्री थे यह स्पष्ट रूप से कह पाना संभावना नहीं है।

बस के क्लीनर और कार सवार लोगों को भी इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिलाधिकारी कन्नौज के अनुसार 21 यात्रियों को इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया है लेकिन कितने यात्री फंसे रह गये यह कह पाना संभव नहीं है। यह जांच के बाद ही कहा जा सकेगा कितने यात्री कहाँ से बैठे थे तभी सही संख्या का पता लग सकेगा।

बस एजेंसी का मालिक आफिस बंद कर फरार

बताया जा रहा है कि फर्रुखाबाद स्थित ट्रेवल एजेंसी का मालिक आफिस बंद कर फरार हो गया है। बस के मानक पूरे थे या फिर फर्जी तरह से बस का संचालन किया जा रहा था यह जांच के बाद ही कहा जा सकता है।  परिवहन मंत्री उत्तर प्रदेश अशोक कटारिया का कहना है कि एजेंसी का आफिस बंद कर फरार होने से संचालक का बच पाना संभव नहीं है। वह बच के कहाँ जायेगा। अभी घायल यात्रियों को बेहतर उपचार व मृतकों के परिजनों के साथ खड़े होने व सहायता करने की जरूरत है।

मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख व घायलों को 50-50 हजार मुआवजा: मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने दुर्घटना में मारे गये यात्रियों के परिजनों को दो दो लाख रुपये व घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजे देने की बात कही है। वही मुख्यमंत्री ने घटना को लेकर गहरा दुख व्यक्त किया। उन्होंने मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री को मौके पर जाने का निर्देश दिया है।  मृतकों के परिजनों को संवेदना व्यक्त किया है। उन्होंने मण्डल के समस्त अधिकारियों व कानपुर के जिलाधिकारी को भी मौके पर भेजा है।