• माघी पूर्णिमा पर इस बार बना है अति सुन्दर संयोग
  • माता लक्ष्मी की भगवान विष्णु के साथ करें पूजा अचानक होगी धन की प्राप्ति

(लखनऊ /VMN) हिन्दू शास्त्रों में माना गया है कि अगर धन की प्राप्ति करनी है तो मां लक्ष्मी की पूजा करें और अगर माता लक्ष्मी को प्रसन्न करना है तो भगवान विष्णु की पूजा करें। चुंकि माघी पूर्णिमा पर भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व माना गया है इसलिए आचार्यों के मत के अनुसार इस दिन भगवान विष्णु के साथ ही लक्ष्मी जी की पूजा करने से धन की प्राप्ति तो होगी ही साथ ही जीवन भी सुख समृद्धि और खुशी से भर जाएगा।

इस संबंध में आचार्य डॉ विनोद कुमार मिश्रा बताते हैं कि माघी पूर्णिमा का धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्व है। स्नान आदि के बाद भगवान विष्णु की पूजा विधि विधान से करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है. इस दिन दान का भी विशेष महत्व है। महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए विशेष तिथि मानी गई है। आज रविवार पूर्णिमा की रात लगभग 12 बजे महालक्ष्मी की भगवान विष्णु के साथ पूजा करें और रात को ही घर के मुख्य दरवाजे पर घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर घर में निवास करती है। लक्ष्मी जी के मंदिर में जाकर 11 गुलाब के फूल अर्पित करें ऐसा करने से माता लक्ष्मी जी के साथ भगवान विष्णु की कृपा भी प्राप्त होगी और अचानक धन लाभ का योग भी बनेगा. शाम को किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर लक्ष्मी जी की प्रतिमा के सामने सात पीली कौड़िया रखें. रात 12:00 बजे के बाद इन्हें अपने घर के किसी कोने में गाड़ दें इससे जल्दी ही धन संबंधी समस्याएं समाप्त हो जाती है। शास्त्रों में ऐसा माना गया है कि माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करनी है तो पहले भगवान विष्णु जी की पूजा करनी होगी। भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए माघी पूर्णिमा का दिन अत्यंत शुभ माना गया है।

इनका करें दान… 

तिल,  सूती कपडे, कम्बल, कपास, गुड़, घी, फल, अन्न, भोजन आदि का दान गरीब व असहाय को करें।  मत्स्य पुराण मे कहा गया है की इस दिन अगर मनुष्य ब्रह्मवैवर्त पुराण का दान करता है तो उस पर ईश्वर की विशेषता कृपा बनती है और वह ब्रह्मलोक को प्राप्त करता है। इस दिन सोने व चांदी का दान भी किया जाता है, गौ दान का विशेषता महत्व माना गया है।