पालघर घटना से जगतगुरु रामभद्राचार्य आहत

केंद्र सरकार से दोषियों को मृत्युदंड देने की मांग की

21 April 2020, Tuesday

(चित्रकूट/VMN) मुंबई पालघर में दो संतो की हुई नृशंस हत्या पर जगतगुरु तुलसी पीठाधीश्वर रामभद्राचार्य काफ़ी आहत हैं। उन्होंने वन्देमातरम न्यूज़ को फ़ोन पर बताया कि उनके साथ ही देश भर के संतों में इस घटना से आक्रोश व्याप्त हो गया है। इस घटना से संतों की सुरक्षा पर एक बड़ा प्रश्न चिन्ह लग गया है। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार को चेतावनी दी और दोषियों को जल्द मृत्युदंड देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा अपराधियों के खिलाफ जल्द कठोर कदम न उठाने पर 3 मई के बाद लाखों संत मुंबई कूंच करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे जूना अखाड़े के दो संत मुंबई से गुजरा अपने ब्रम्हलीन गुरु की अंत्योष्टि में भाग लेने जा रहे थे। पालघर में जिस निष्ठुरता, निर्दयता और बर्बरता से उनके प्राणों पे आक्रमण किया गया है। इससे सभी संतों में अत्यंत आक्रोश है। मुझे विशेषकर क्योंकि मैं पहले संत हूँ फिर कुछ और। इसलिए केंद्र व राज्य सरकार से मामले कि सीबीआई जाँच हो और दोषियों को मृत्युदंड दिया जाए। तभी इस अपराध का वास्तविक बदला लिया जा सकेगा। अगर जल्द ऐसा नहीं होता तो लाखों संत 3 मई के बाद अपराधियों को दंड देने के लिए मुंबई कूच कर देंगे। 

गौरतलब है कि 20 अप्रैल को मुंबई के पालघर में दो संतों सहित तीन लोगों कि भीड़ ने हत्या कर दी थी। हांलाकि इसकी वजह अभी स्पष्ट नहीं हुई है। आरोपियों को घटना के दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया है। जाँच सीआईडी क्राइम ब्रांच के डीजी अतुल कुलकर्णी को सौंप दी गईं है।