मुंबई. राकांपा-कांग्रेस-शिवसेना गठबंधन ने बुधवार को वाईबी चह्वाण सेंटर में 4 घंटे बैठक की। राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि कल उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे और उनके साथ हर पार्टी से दो-दो विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे। पटेल ने कहा कि 3 दिसंबर से पहले विश्वासमत हासिल करना जरूरी है और मंत्रिमंडल का बाकी विस्तार इसके बाद ही किया जाएगा।

पटेल ने कहा कि उप-मुख्यमंत्री राकांपा से होगा, हालांकि उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या यह पद अजित पवार को दिया जाएगा? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि उद्धव के शपथ ग्रहण के बाद सब साफ हो जाएगा। पटेल ने कहा कि विधानसभा स्पीकर कांग्रेस का होगा।

आत्महत्या करने वाले 400 किसानों के परिजनों को शपथ ग्रहण में न्योता
राकांपा-कांग्रेस-शिवसेना गठबंधन को मंगलवार को महा विकास आघाड़ी नाम दिया गया था। ट्राइडेंट होटल में सभी विधायकों ने उद्धव को गठबंधन का नेता चुना था। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के 29वें मुख्यमंत्री होंगे। 28 नवंबर को शाम 6:40 मिनट पर वे शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे सोनिया गांधी को शपथ ग्रहण समारोह का न्योता देने उनके निवास 10 जनपथ पहुंचे। आदित्य ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी समारोह में आने का न्योता दिया। इनके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को न्योता दिया गया है। महाराष्ट्र में आत्महत्या करने वाले 400 किसानों के परिजनों को भी समारोह में बुलाया गया है।

समर्थकों ने अजित के पोस्टर लगाए, भावी सीएम बताया

सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि शिवसेना को मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री के अलावा 15 मंत्रियों का कोटा मिलेगा। राकांपा-कांग्रेस से 13-13 मंत्री बनाए जा सकते हैं। इस बीच राकांपा कार्यकर्ताओं ने बारामती में अजित पवार का पोस्टर लगाया है। इसमें लिखा है कि चलो तय करते हैं कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। पूरा महाराष्ट्र आपकी ओर देख रहा है, भविष्य के मुख्यमंत्री के तौर पर।

कोलंबकर ने 288 विधायकों को शपथ दिलाई
मुंबई में महाराष्ट्र विधानसभा का बुधवार को विशेष सत्र बुलाया गया। इसमें प्रोटेम स्पीकर कालिदास कोलंबकर ने सभी 288 विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर अजित पवार ने कहा- मैं पहले ही कह चुका हूं कि राकांपा में हूं। क्या उन्होंने मुझे बाहर निकाला? क्या आपने ऐसा कहीं सुना या पढ़ा? मैं अब भी राकांपा के साथ हूं। शरद पवार की बेटी और राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने विधानसभा में सभी विधायकों की अगवानी की।